logo

पति की दूसरी शादी से नाराज पत्नी ने जिंदा जला दिया 57 लोगों को, जानिए रूह कंपा देने वाली सच्ची कहानी

ये कहानी कुवैत की है जहां एक पत्नी अपने पति की दूसरी शादी से इतने गुस्से मे आ गयी कि उसने अपने गुस्से की आग मे 57 महिलाओं और बच्चों को जिंदा जला दिया

 
kuwait wedding fire

Love Revenge Story: कहते हैं कि प्यार दुनिया की सबसे अच्छी चीज में से एक है, लेकिन जब यह एकतरफा और जुनून वाला हो जाए तो खतरनाक रूप ले लेता है। इतना खतरनाक कि आदमी दूसरों के खून का भी प्यासा हो जाता है और अपने प्यार को पाने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हो जाता है।

ऐसा ही मामला कुवैत में आज से करीब 13 साल पहले सामने आया था। इसमें एक महिला ने ऐसा क्राइम किया था, जिसके बाद यहां की सरकार को अपना कानून तक बदलना पड़ा था।

दूसरी शादी को लेकर ऐसे शुरू हुआ विवाद

नाजरा यूसुफ एलेंजी कुवैत सिटी में पति जाएद जाफरा के साथ रहती थी दोनों के दो बच्चे थे। पति का तेल का कारोबार था जो अच्छा चल रहा था। ऐसे में परिवार खुशी से रह रहा था। नाजरा हाउसवाइफ थी। जबकि जाएद कारोबारी था। अचानक 36 साल के जाएद के मन में 4 पत्नियां बनाने का ख्याल आया। वह अपने लिए एक लड़की ढूंढने लगा। जब नाजरा को इसका पता चला तो वह काफी गुस्सा हुई। घर में काफी झगड़ा हुआ। जाएद ने नाजरा को काफी समझाया, लेकिन वह नहीं मानी। जल्द ही जाएद को लड़की भी मिल गई। दोनों ने शादी का फैसला किया। उधर नाजरा को जब इसका पता चला तो वह अंदर ही अंदर घुटने लगी। उसने तय कर लिया कि वह किसी भी कीमत पर जाएद की दूसरी शादी नहीं करने देगी।

Story: आशिक ने पति से कहा- "तेरी पत्नी को मैंने प्रेगनेंट किया..." किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं ये कानपुर का मामला

शादी मे किया खूब खर्चा

इसके बाद कुछ दिन बाद जाएद ने नाजरा से कहा कि 15 अगस्त 2009 को वह शादी करेगा। यह सुनकर नाजरा ने तब शादी के लिए हामी भर दी। उसने कहा कि चाहे तुम दो शादी करो या 4, इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। पर अंदर से वह काफी गुससे में थी। अब 15 अगस्त 2009 का दिन आया। जाएद ने शादी के लिए काफी इंतजाम किए। काफी महंगा और आकर्षक टैंट लगवाया। औरतों और बच्चों के लिए अलग टैंट लगवाया गया। शराब पीने वालों के लिए भी अलग टैंट, नाचने-गाने के लिए अलग टैंट और दूल्हा-दुल्हन के लिए स्पेशल टैंट की व्यवस्था थी। इस काम के लिए अमेरिका से लोग बुलाए गए थे। टैंट तो आकर्षक था, लेकिन इसमें बड़ी गड़बड़ी ये थी कि एंट्री और एग्जिट के लिए एक ही गेट की व्यवस्था थी।

पहली पत्नी ने बनाया बहुत ही खौफनाक प्लान

नाजरा ने इसी कमी को कैच किया और शादी के प्रोग्राम के दौरान चुपचाप बैठी रही। उसके दिमाग में एक खतरनाक प्लान चल रहा था। उसने सोचा कि जिस इंसान के कारण वह दुखी है, क्यों न उसी को मार दिया जाए। इसी सोच के साथ वह सबसे पहले घर से बाहर निकली। उसने गाड़ी के अंदर छोटे-छोटे टैंक रखे, जिनके अंदर पेट्रोल भरा हुआ था। इसके बाद वह वहां पहुंची जहां शादी हो रही थी। इस दौरान उसने अपना चेहरा बुर्के से ढक रखा था। यहां सबसे नजर बचाकर नाजरा ने एक टैंट के बाहर से पर्दों पर पेट्रोल छिड़कना शुरू किया। बाहर भी 52 डिग्री सेल्सियस का तापमान था। नाजरा ने माचिस जलाई और टैंट में आग लगा दी। जब उसने आग लगाई तब अंदर सैकड़ों लोग मौजूद थे। धीरे-धीरे टैंट में सभी का दम घुटने लगा। एग्जिट गेट एक ही होने की वजह से सभी बाहर नहीं निकल पाए।

मरने वालों में महिला और बच्चे ही शामिल

सिर्फ 3 मिनट में कई लोगों ने दम तोड़ दिया। 41 लोगों की मौके पर ही मौद हो गई थी। 90 लोग घायल हुए थे। घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया। कई घायलों ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। इस घटना में मरने वालों की संख्या 57 पहुंच गई। मरने वालों में सिर्फ महिलाएं और बच्चे शामिल थे। पुलिस को शुरू में पता चला कि हादसा शॉर्ट सर्किट के कारण हुआ है। लेकिन जांच के दौरान पुलिस को घटनास्थल पर पेट्रोल के छोटे टैंक दिखाई दिए। उनके अंदर अभी भी पेट्रोल बचा था। फिर पुलिस को शक हुआ कि ये आग लगी नहीं, बल्कि लगाई गई है।