logo

एनीकट में अपने डुबते बच्चे को बचाने के लिए मां ने लगाई छलांग पर बचा नहीं पाई, हुई दोनों की मौत

Dungarpur crime news: राजस्थान के आदिवासी बाहुल्य डूंगरपुर जिले के दोवड़ा थाना इलाके में दिल को दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक मां (Mother) ने एनीकट में डूब रहे मासूम बेटे को बचाने के लिए उसमें छलांग दी. लेकिन वह बेटे को बचा नहीं और वह खुद भी डूब गई.
 
बैगर एनीकट में अपने डुबते बच्चे को बचाने के लिए मां ने लगाई छलांग पर बचा नहीं पाई, हुई दोनों की मौत

मां (Mother) अपने जिगर के टुकड़े को बचाने के लिए दुनिया के तमाम खतरों का सामना कर सकती है. इसके लिए चाहे उसे जान ही क्यों न देनी पड़े. वह कोई समझौता नहीं करती है. ऐसा ही एक मामला राजस्थान के डूंगरपुर (Dungarpur) जिले में सामने आया है.

यहां एक मां ने अपने मासूम बेटे को डूबने से बचाने के लिए जान की परवाह किए बैगर एनीकट में छलांग लगा दी. तमाम प्रयासों के बावजूद वह न तो बेटे को बचा पाई और और न ही खुद बच पाई. बाद में वहां पहुंचे लोगों ने दोनों के शवों को एनीकट से बाहर निकाला और पुलिस को सूचित किया.

पुलिस के अनुसार घटना डूंगरपुर थाना इलाके के दोवड़ा थाना इलाके के दरा खंडा गांव में शुक्रवार को हुई. दोवड़ा थानाधिकारी कमलेश चौधरी ने बताया की डायालाल परमार की पत्नी वाली गांव के एनीकट में कपड़े धोने गई थी.

इस दौरान वाली के साथ उसका दो साल का बेटा मोहित परमार भी साथ था. वह एनीकट पर कपड़े धो रही थी. इसी दौरान खेलते-खेलते उसका बेटा मोहित अचानक पानी से भरे एनीकट में गिर गया.

 

Also Read This:  Bhiwani: अनजान युवको ने देर रात एक बहस के दौरान की हत्या

 


मां ने बेटे को बचाने के लिए खूब संघर्ष किया


2 साल के बेटे को डूबता देख उसकी मां ने आनन-फानन में उसे बचाने के लिए एनीकट में छलांग लगा दी. इस दौरान एनीकट पर मौजूद एक लड़की ने यह पूरा घटनाक्रम देख लिया. वाली बेटे को बचाने के लिए पानी में संघर्ष कर रही थी.

वाली को भी डूबते देखकर लड़की दौड़कर गई और ग्रामीणों तथा मोहित के परिजनों को घटना की जानकारी दी. सूचना पर परिजन और ग्रामीण दौड़कर एनीकट पर पहुंचे लेकिन तब तक मां और बेटे दोनों की डूबने से मौत हो चुकी थी.


पुलिस ने आज शवों का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंपा


ग्रामीणों ने दोनों के शव को एनीकट से बाहर निकाला और पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने गांव पहुंचकर मौका मुआयना किया और शवों को अपने कब्जे में लेकर उनको डूंगरपुर अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया.

शनिवार को पुलिस ने मां-बेटे के शवों का पोस्टमार्टम करवाकर उनको परिजनों के सुपुर्द कर दिया. मृतका वाली के एक बड़ी बेटी है. मां-बेटे की एनीकट में डूबने से मौत हो जाने से गांव में मातम पसर गया. ग्रामीण पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाने में लगा है.