logo

Delhi की इन कॉलोनियो पर मंडराया खतरा, सरकार ने बुलडोजर चलाने के दिये आदेश

Delhi-NCR : दिल्ली-एनसीआर में अवैध निर्माण पर कार्रवाई शुरू होगी। योगी सरकार ने इन इलाकों में भूमाफियों की अवैध कॉलोनियों पर कार्रवाई शुरू कर दी है। माना जाता है कि लगभग पांच हजार निर्माण गिर जाएंगे..।
 
Delhi की इन कॉलोनियो पर मंडराया खतरा, सरकार ने बुलडोजर चलाने के दिये आदेश 
Haryana Update : Delhi-NCR में अवैध निर्माण पर कार्रवाई शुरू होने वाली है। विशेष रूप से दिल्ली से सटे गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, हापुड़ और बुलंदशहर जैसे क्षेत्रों में इसकी शुरुआत भी हुई है।

योगी सरकार ने इन इलाकों में भूमाफियों की अवैध कॉलोनियों पर बुलडोजर चलाना शुरू किया है। वहीं, फरीदाबाद, पूर्वी दिल्ली के कुछ इलाके, दादरी, ग्रेटर नोएडा और नोएडा के कुछ अवैध कॉलोनियों में भी बुलडोजर चलने का खतरा बढ़ा है।

ऐसे में आपको सतर्क रहना चाहिए अगर आप इन क्षेत्रों में भूमाफिया द्वारा बसाई गई अवैध कॉलनियों में घर, जमीन, मकान, फ्लैट या दुकान खरीदने की योजना बना रहे हैं। मकान खरीदने से पहले, आपको संपत्ति के मालिक से संपर्क करना चाहिए। योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में सभी अधिकारियों को इस बारे में रिपोर्ट बनाने और कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

दिल्ली-एनसीआर के गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा और दादरी क्षेत्र में पिछले कुछ सालों से अवैध कॉलोनियों की बाढ़ आई है। हर दिन इन इलाकों में अवैध भूमि काट कर बेचने वाले भूमाफियाओं की वजह से कॉलनियों की संख्या कम होती जा रही है। उदाहरण के तौर पर, दादरी तहसील के कैमराला चक्रसेनपुर गांव में बुलंदशहर विकास प्राधिकरण टाउनशिप बनाने की योजना बना रहा है, लेकिन इस गांव में अवैध कॉलनी काट दी गई है। यहां सैकड़ों घर बन कर तैयार हैं। अब प्रशासन को इन मकानों को कैसे खाली करना है।
Delhi Weather : दिल्ली के मौसम ने ली फिर करवट, इतने दिन तक चलेगी ठंडी हवाएँ
वसुंधरा में 5000 से अधिक अवैध इमारतें—
जैसे, गाजियाबाद विकास प्राधिकरण को हर दिन अवैध निर्माण के कई मामले मिल रहे हैं। यहां 5000 से अधिक अवैध निर्माण हुए हैं, यह हाल ही में आवास विकास परिषद की एक सर्वे रिपोर्ट में सामने आया है। वसुंधरा योजना 90 के दशक में बनाई गई थी। यहां एकल घरों, ग्रुप घरों और भूखंडों की बिक्री हुई। दिल्ली से नजदीक होने से हर कोई घर चाहता था।

इस इलाके में पिछले दो दशक में इमारतों का जाल बिछ गया है। बिल्डरों ने मकान बनाने के लिए नक्शा में गड़बड़ी की। जिन जगहों पर तीन मंजिला घर बनाने की अनुमति थी, वहां कई मंजिला इमारतें बनाई गईं। यह आवास विकास परिषद की एक रिपोर्ट में सामने आया है।

गाजियाबाद में नक्शे के खिलाफ निर्माण के बाद प्रशासन ने अब कठोर होना शुरू कर दिया है। गाजियाबाद में पिछले कुछ दिनों से प्रशासन की एक टीम अवैध कॉलिनियों में बुलडोजर चलाती रही है। गाजियाबाद के मुरादनगर क्षेत्र में सैथली में बसाई जा रही अवैध कॉलनियों पर बुलडोजर चलाया गया है। वसंतपुर गांव में भी बुलडोजर चलाया गया। इसलिए अगर आप संपत्ति खरीदने जा रहे हैं तो पांच बातों का ध्यान रखना चाहिए।