logo

Chanakya Niti : पत्नी की इस गलती के कारण, पति ढूंढने लगता है दूसरी औरत

Chanakya Niti :वर्तमान समाज में आचार्य चाणक्य की बातें अभी भी प्रभावी मानी जाती हैं क्योंकि वे एक महान विद्वान, विचारक और रणनीतिकार थे। चाणक्य ने अपने नीति ग्रंथ, में राजनीति और सामाजिक जीवन के कई महत्वपूर्ण मुद्दों का उल्लेख किया है। यह भी कहा जाता है कि आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र लिखा, जिसमें उन्होंने समाज के लगभग हर विषय पर चर्चा की है।
 
Chanakya Niti : पत्नी की इस गलती के कारण, पति ढूंढने लगता है दूसरी औरत 
Haryana Update : नीति शास्त्र (Niti Shastra) में स्त्री-पुरुष के बीच के संबंध को मजबूत बनाने के नियम भी बताए गए हैं और उनके कारण भी बताए गए हैं। जिससे पुरुष अपनी पत्नी से मोहभंग हो जाता है।

नीति शास्त्र (Chanakya ki Niti) में आचार्य चाणक्य ने धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष, परिवार, समाज और बहुत कुछ पर नियम बताए हैं। आज ये सभी नियम कठोर और प्रांसगिंक हैं। इसमें बताया गया है कि आखिर क्यों एक आदमी अपनी पत्नी से मोहभंग कर लेता है और दूसरी औरत से मोहित हो जाता है। शादी के बाद एक व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति से आकर्षित होना आम है। ये गलत नहीं है, लेकिन प्रशंसा से अधिक आकर्षण नए संबंधों को जन्म देता है, जो हमारे समाज में अनुचित है। नया प्रेम संबंध पुरानी शादी को तोड़ सकता है।

पहले स्वर की मधुरता कम होना

चाणक्य सिद्धांत के अनुसार, वैवाहिक जीवन में कड़वाहट का कारण वाणी की मधुरता में कमी होती है। ऐसे में, चाहे घर की स्त्री हो या पुरुष, बाहर मधुरता खोजने लगते हैं, यहीं परेशानी शुरू होती है। एक वैवाहिक संबंध में शारीरिक सुख के अलावा मानसिक सुख भी महत्वपूर्ण है, जिसकी कमी एक रिश्ते को खत्म कर सकती है।

आकर्षण का कम होना

पति-पत्नी के रिश्तों में खटास आता है जब वे एक दूसरे को पूरा समय नहीं देते, ध्यान नहीं देते या एक दूसरे की कमियों को गिनाते रहते हैं। ऐसे में, पति अपनी पत्नी की जगह किसी और स्त्री से आकर्षित हो जाता है।
Chanakya Niti : स्त्रियॉं की ये चीज मर्दो को झट से कर लेती है काबू
यकीन की कमी

सभी जानते हैं कि भरोसा एक परिवार का सबसे बड़ा बल है। जब स्त्री ये भरोसा तोड़ती है, तो पुरुष घर से बाहर रिश्तों की तलाश करने लगता है। ऐसे स्त्री-पुरुष अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एक्ट्रा मैरिटल अफेयर में कहीं आगे बढ़ जाते हैं।

संतान के लिए नई जिम्मेदारियां

सन्तान होने पर पति-पत्नी के रिश्तों में कभी-कभी बदलाव आता है। पुरुष और महिलाएं एक दूसरे के साथ समय नहीं बिता पाती हैं। चंचल स्वभाव वाले पुरुष घर से बाहर अन्य लोगों से आकर्षित होते हैं, और यहीं से एक्ट्रा मैरिटल अफेयर शुरू होता है।

स्त्री-पुरुषों के लिए आचार्य चाणक्य ने अपने आलवा नीति शास्त्र में कड़े नियम बताए, जिनका पालन नहीं करने पर जीवन बर्बाद हो सकता है। चाणक्य ने कहा कि पत्नी को पति की तीन मांगों को हमेशा पूरा करना चाहिए, नहीं तो शादीशुदा जीवन खराब हो सकता है।

पति को उदास होना चाहिए

पति-पत्नी को एक दूसरे का सुख-दुख देखना चाहिए, आचार्य चाणक्य ने कहा। नीति शास्त्र (Chanakya Niti) कहता है कि पत्नी का पहला दायित्व अपने पति की सभी बातों का ध्यान रखना है और पति को उदास होने पर उसे तुरंत बताना चाहिए। आपके रिश्ते खराब हो सकते हैं अगर आप ऐसा नहीं करते। इसलिए, आपको अपने पति की उदासी की वजह जाननी चाहिए और उसे हर हाल में दूर करने का प्रयास करना चाहिए।

पति के प्रेम को पूरा करें

पत्नी को अपने पति के प्रति हमेशा अपना प्रेम व्यक्त करना चाहिए और उनकी इच्छाओं को पूरा करना चाहिए। पति-पत्नी के बीच प्रेम की कमी लड़ाई-झगड़े का कारण बनती है। आचार्य चाणक्य ने कहा कि अगर पति प्रेम करता है तो पत्नी का कर्तव्य है कि वह उसे प्रेम से प्रसन्न करे।


प्रेम जीवन में कभी नहीं आने देना


Acharya Chanakya कहते हैं कि एक खुशहाल वैवाहिक जीवन के लिए पति-पत्नी के बीच प्रेम होना बहुत महत्वपूर्ण है। पति-पत्नी के बीच प्यार नहीं होने पर परिवार बिखर जाता है। यह पत्नी की जिम्मेदारी है कि उनके वैवाहिक जीवन में कभी कोई झगड़ा न हो।