logo

BPL Ration card: हरियाणा में इन लोगों का कटेगा BPL कार्ड, लिस्ट हुई जारी

हरियाणा सरकार के द्वारा उन लोगों के बीपीएल कार्ड को काटा जा रहा है जिनके घर में तमामत तरह की सुविधाएं है और वे सरकारी सुविधाओं का लाभ ले रहे हैं.
 
म

Haryana Update, New Delhi: बीपीएल कार्ड रखने वाले लोगों के लिए यह अच्छी खबर है। हरियाणा सरकार हर दिन परिवार पहचान पत्र को अपडेट करती है। पीपीपी पर अभी तक अपडेट किया गया ब्योरा जमीन या चल-अचल संपत्ति था। लेकिन पीपीपी कार्ड धारकों ने अब अपने नाम दर्ज किए गए दोपहिया और चारपहिया वाहनों की जानकारी ऑनलाइन प्राप्त करने लगे हैं। ऐसे में किसी व्यक्ति का बीपीएल राशन कार्ड बंद हो जाएगा अगर वह अपने नाम पर चार पहिया वाहन खरीद ले।

सरकार हर दिन परिवार पहचान पत्र (PPP) को अपडेट करती है। पीपीपी पर अभी तक अपडेट किया गया ब्योरा जमीन या चल-अचल संपत्ति था। लेकिन अब पीपीपी धारक के नाम पर पंजीकृत दोपहिया और चार पहिया वाहनों की जानकारी भी इंटरनेट पर प्राप्त की जाती है।

बीपीएल राशन कार्ड में उनके नाम नहीं होंगे।

ऐसे में, अगर कोई चार पहिया वाहन पीपीपी धारक के नाम पर रजिस्टर्ड पाया जाता है, तो उसका बीपीएल राशन कार्ड काट दिया जाएगा। इससे छूट केवल दोपहिया वाहनों को दी गई है। सरकार ने इसके लिए जमीन पर काम शुरू किया है। अब पूरा डाटा पीपीपी द्वारा ऑनलाइन होगा।

राशन कार्ड से चार पहिया वाहन चालकों के नाम नहीं काटे जा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, अगर किसी व्यक्ति के नाम पर घर के अलावा कोई प्लॉट दर्ज किया गया है, तो उसका राशन कार्ड भी काट दिया जाएगा। न तो प्लॉट मालिकों के न तो चौपहिया वाहन मालिकों के राशन कार्ड काटे जा रहे थे। शुरू में शहरी क्षेत्रों में 100 गज और ग्रामीण क्षेत्रों में 200 गज की छूट दी गई।

ऐसा अब नहीं है। धारक को बीपीएल की सुविधा नहीं मिलेगी अगर उसे अपने नाम पर 100 गज या 200 गज का शहरी या ग्रामीण क्षेत्र में प्लॉट मिलता है। सरकार ने हाल ही में ग्रामीण क्षेत्रों में ड्रोन का उपयोग किया। इसमें गांवों में लाल डोरा भूमि और मालिकों की संपत्ति का विवरण संकलित था, जो अब ऑनलाइन उपलब्ध है। इस सूचना को देखकर संपत्ति का मूल्यांकन किया जा रहा है।

पीपीपी द्वारा मुफ्त बस पास बनाए जाएंगे

अब सरकार पीपीपी के माध्यम से स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को मुफ्त बस पास भी देगी। बीपीएल राशन कार्ड दोबारा बनाया जाएगा अगर आपका प्रमाण सही है। अगर पीपीपी धारक का चार पहिया वाहन बेच दिया गया है और उसका बीपीएल कट गया है पहले ये जानें। अब भी गाड़ी उनके नाम पर रजिस्टर्ड दिखती है। अगर ऐसा है, तो विभाग को सूचित करें और आवेदन भरें।

बीपीएल राशन कार्ड दोबारा बनाया जाएगा अगर आपका प्रमाण सही है। अन्यथा यह मुश्किल होगा। ऐसे कई मामले जांच में सामने आ रहे हैं। लोग जागरूक नहीं हैं। विभाग ने बताया कि लोगों की जागरूकता कम है। किसी व्यक्ति ने आईटीआर या चार पहिया वाहन का रजिस्ट्रेशन कराया है। यही कारण है कि उनका बीपीएल काटा गया है। पीपीपी धारक अभी भी सीएससी वालों के पास चक्कर लगा रहे हैं। वेबसाइट पर सिटीजन पोर्टल में इसके लिए एक विकल्प उपलब्ध है। पीपीपी धारक लघु सचिवालय में मदद डेस्क पर भी अपनी शिकायतें दर्ज कर सकते हैं।