logo

Crime News: एक बार फिर हुआ निर्भया हत्याकांड, महिला के शरीर में डाली वाइपर की रोड

दिली में हुए निर्भया हत्याकांड जैसा ही एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यह मामला फरीदाबाद के बल्लभगढ़ के सेक्टर-7ए में सामने आया है।
 
Crime News: एक बार फिर हुआ निर्भया हत्याकांड, महिला के शरीर में डाली वाइपर की रोड  

बताया जा रहा है कि  पुलिस ने सेक्टर-7ए स्थित गुरुद्वारे के पीछे बंद गली के पार्क से 34 वर्षीय एक महिला का शव बरामद किया है। प्राथमिक जांच में सामने आया कि महिला से पहले दुष्कर्म किया गया, फिर प्राइवेट पार्ट में वाइपर का पाइप डाल दिया। 

 

पुलिस ने बताया कि महिला की गर्दन भी टूटी हुई थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पहचान और पोस्टमार्टम के लिए बीके नागरिक अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है।

 


 क्राइम ब्रांच और पुलिस की चार टीमें जांच में जुटी हैं। पुलिस के अनुसार, मंगलवार रात करीब 8 बजे उन्हें सूचना मिली थी कि सेक्टर-7ए स्थित गुरुद्वारे के पीछे बंद गली के साथ बने पार्क में एक महिला का शव पड़ा है।

पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची। सूचना मिलते ही डीसीपी बल्लभगढ़ कुशाल सिंह, एसीपी सिटी बल्लभगढ़ मुनीश सहगल, थाना प्रबंधक सेक्टर-8 व चौकी प्रभारी व क्राइम ब्रांच की टीम और एफएसएल टीम ने मौका मुआयना किया।


पुलिस जांच में सामने आया कि महिला के दाहिने हाथ पर आरएम स्टार व दोनों कलाइयों पर ओम गुदा हुआ है। सूत्रों के अनुसार, प्राथमिक जांच में सामने आया है कि महिला के साथ पहले दुष्कर्म किया गया और उसके बाद हत्या की गई। शव अर्धनग्न अवस्था में था। गर्दन भी पूरी तरह से टूटी हुई थी। 

प्राइवेट पार्ट में वाइपर का पाइप डाला हुआ था। बताया जा रहा है शव करीब दो से तीन दिन पुराना है। क्राइम ब्रांच व थाना पुलिस द्वारा घटनास्थल के आसपास की सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है।

पुलिस को कुछ सुराग मिले हैं। घटनास्थल के आसपास के लोगों से भी पूछताछ की जा रही है।


दो दिन तक पार्क में पड़ा रहा शव, लोगों को भनक तक नहीं लगी


सेक्टर-7ए स्थित गुरुद्वारे के पीछे 34 वर्षीय अज्ञात महिला का अर्धनग्न शव बरामद हुआ। घटना स्थल के सामने आवासीय क्षेत्र व एक किलोमीटर की दूरी पर पुलिस चौकी होने के बावजूद दो दिन तक आसपास के लोगों व पुलिस को भनक तक नहीं लगी।

 मंगलवार रात पुलिस को सूचना मिली कि सेक्टर 7ए पुलिस ने सेक्टर-7ए स्थित गुरुद्वारे के पीछे बंद गली के पार्क से महिला का शव बरामद किया है। घटनास्थल पर पुलिस को शव को घसीटने के निशान भी मिले।

शव की पहचान के लिए आसपास के लोगों से फोटो लेकर पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा महिला को देखने से लगता है कि वह मजदूर तबके की थी और शव दो दिन पुराना है।

कैमरे खंगाल रही पुलिस


पुलिस के अनुसार शव की पहचान के लिए पार्क व गुरुद्वारे के आसपास लगे कैमरों की जांच की जा रही है। महिला की पहचान के लिए सभी थानों को सूचित कर दिया गया है। इसे अलावा शव का पोस्टमार्टम तीन डॉक्टरों के बोर्ड से कराया जाएगा।

जर्जर पार्क में नहीं जाते स्थानीय निवासी


पार्क के सामने कई मकान बने हुए हैं। पार्क की हालत जर्जर होने की वजह से पार्क में कोई भी घूमने के लिए नहीं आता है। सेक्टर 7ए निवासी नवीन गोयल ने बताया कि यह पार्क उनके घर के सामने है। पार्क की देखरेख की जिम्मेवारी नगर निगम की है, लेकिन रखरखाव के नाम पर कुछ नहीं किया जाता है। इस कारण पार्क में बड़ी-बड़ी घास उग आई है।

फुटपाथ टूटी हुई है। शाम ढलते ही पार्क शराबियों व आसमाजिक तत्वों का अड्डा बन जाता है। इसलिए लोग पार्क में जाने से कतराते हैं। उन्होंने कई बार निगम को पत्र लिखकर पार्क की हालत सुधारने की मांग की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। मंगलवार की घटना भी इसी वजह से हुई, क्योंकि पार्क जर्जर है और कोई स्थानीय निवासी आता जाता नहीं है।

एक किलोमीटर पर है पुलिस चौकी


घटना स्थल से मात्र एक किलोमीटर की दूरी पर सेक्टर 7डी व ई के चौक पर पुलिस चौकी सेक्टर-7 बनी हुई है। दो दिन पहले घटना को अंजाम देने के बावजूद पुलिस को गश्त के दौरान कोई जानकारी नहीं मिली।

बदबू के बाद पता चला


सूत्रों के अनुसार शव से बदबू आने के बाद जब प्रेस करने वाली महिला का बेटा उस जगह गया तो उसको घटना के बारे में जानकारी मिली। उसने फोन के जरिए पुलिस को सूचना दी जिसके बाद मौके पर पुलिस व क्राइम ब्रांच ने जांच की। थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह का कहना है कि अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ 376 और 302 का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है

Faridabad murder, faridabad crime rate, faridabad crime news, faridabad crime news in hindi, faridabad news in hindi, murder in faridabad, woman murder in faridabad, sexual harassment in faridabad, faridabad sexual harassment, murder after rape, faridabad police, delhi nirbhaya case in hindi, delhi nirbhaya case victim name, delhi nirbhaya case"