logo

Online Dating : प्यार के जाल में फसते जा रहे है लोग, आंकड़े कर देंगे हैरान!

Online Dating News : वैलेंटाइन डे के आसपास, साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर्स ने सोमवार को घोषणा की कि भारत में रोमांस स्कैम का बढ़ता हुआ मामूला है। उनकी रिपोर्ट के अनुसार, देशवासियों में से 66 प्रतिशत लोग ऑनलाइन डेटिंग स्कैम्स के शिकार हो गए हैं।
 
 
Haryana Udpate

Haryana Update, Online Dating : 2023 में 43% भारतीय AI Voice स्कैम का शिकार हुए और 83% ने अपना पैसा खो दिया। एक्सपोजर मैनेजमेंट कंपनी टेनेबल ने एक नई रिपोर्ट में कहा कि हाल ही के सालों में ऑनलाइन डेटिंग स्कैम में बहुत बदलाव आया है. जेनरेटिव एआई और डीपफेक जैसी नवीनतम तकनीक ने पारंपरिक रणनीति को बदल दिया है।

AI निर्मित डीपफेक इतने सटीक काम करते हैं कि 69% से अधिक भारतीयों का कहना है कि वे AI और किसी व्यक्ति की वास्तविक आवाज का अंतर नहीं कर सकते।ऑनलाइन डेटिंग घोटालों में स्कैमर्स अब जेनरेटिव AI और डीपफेक टेक्नोलॉजी का उपयोग कर रहे हैं।

टेनेबल के स्टाफ रिसर्च इंजीनियर क्रिस बॉयड ने कहा, "जब स्थापित प्लेटफॉर्म्स से प्राइवेट कन्वर्सेशन्स में जाने के लिए मजबूर किया जाता है, जहां इनिशियल साइट की सुरक्षात्मक लेयर नष्ट हो जाती है, तो मैं अत्यधिक सतर्कता की वकालत करता हूं। जेनेरेटिव AI या डीपफेक में भागीदारी करते समय सावधान रहना आवश्यक है।"

रिपोर्ट में बताया गया है कि पीड़ितों की सुरक्षा को नुकसान पहुँचाने वाले ऐसे स्कैम अक्सर फेसबुक जैसे प्लेटफार्मों पर शुरू होते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि 'एक परेशान करने वाली प्रवृत्ति उभर रही है, जहां घोटालेबाज नियमित रूप से वृद्ध व्यक्तियों को निशाना बनाते हैं, खासकर वे जो विधवा हैं या मेमोरी लॉस से पीड़ित हैं।'

वीडियो की जांच है जरूरी
रिसर्चर्स का कहना है कि नए पैसे के अनुरोधों पर तत्काल खतरे की घंटी बजनी चाहिए। उनका सुझाव था कि उन तस्वीरों और वीडियो की जांच करना जरूरी है जो जानबूझकर बैकग्राउंड जानकारी छिपाते हैं, जो ऑनलाइन वेरिफिकेशन को बाधित करते हैं।

बॉयड ने कहा, "जागरूकता और सतर्कता इन चालाकियों के खिलाफ हमारा सबसे अच्छा बचाव है, जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि प्यार चाहने वाले लोग पेचीदा जाल का शिकार न हों।"'

Scam Crime : पापा की परी पड़ गई Daddy Scams के चक्कर में, जो फिर हुआ...