logo

Business Mind: 80 रुपये की कर्ज लेकर पापड़ बेले, Lijjat Papad फिर ब्रांड बना 'Lijjat'

Lijjat Papad कारोबार की शुरुआत हुई थी महज 80 रुपये का कर्ज लेकर केवल 7 महिलाओं के साथ। 7 की संख्या 45 हजार पार कर गई है और 80 रुपये का कर्ज 1600 करोड़ रुपये के टर्नओवर में बदल चुका है।

 
Business Mind: 80 रुपये की कर्ज लेकर पापड़ बेले, Lijjat Papad फिर ब्रांड बना 'Lijjat'

Haryana Update, Lijjat : 45 हजार से ज्यादा महिलाओं को रोजगार। 17 राज्यों में 60 से ज्यादा केंद्र। 400 करोड़पापड़  की बिक्री। 1600 करोड़ रुपये का टर्नओवर। यह इबारत लिखी है देश के फेमस पापड़ ब्रांड- लिज्जत ने।

Lijjat Papad कारोबार की शुरुआत हुई थी महज 80 रुपये का कर्ज लेकर केवल 7 महिलाओं के साथ। 7 की संख्या 45 हजार पार कर गई है और 80 रुपये का कर्ज 1600 करोड़ रुपये के टर्नओवर में बदल चुका है।

You must have seen the advertisement of Lijjat Papad on your TV set in the 90s! Enjoy tea with coffee, Karram Kurram-Kurram Karram / Make the guests happy, Karram Kurram-Kurram Karram / Funny, shameful, flavored papads!

Business Idea: घर बैठे शुरू करें यह बिजनेस, Job tension is over!

न केवल विज्ञापन, बल्कि लिज्जत पापड़ का स्वाद भी लोगों की जुबान पर ऐसा चढ़ा कि आज इसका बिजनेस करोड़ों में है। यह जानना भी सुखद है कि लिज्जत पापड़ मशीन नहीं, बल्कि आज भी हाथ से तैयार किए जाते हैं। तो चलिए आज की ब्रांड स्टोरी में जानते हैं, लिज्जत की कहानी।

Took a loan of Rs 80, started business

साल था 1959। मुंबई के गिरगांव में लोहाना निवास की छत पर 7 गुजराती महिलाएं एक मीटिंग के लिए जुटी थीं। इस सोच के साथ कि खाली समय का उपयोग कर कैसे कुछ कमाई की जाए।
Everyone decided that she would make papad and sell it in the market. Everyone somehow collected Rs 80 and bought gram flour, spices etc. On the first day 4 packets of papad were prepared. Went and sold it in a nearby store.
 दिन 50 पैसे का मुनाफा हुआ, दूसरे दिन 1 रुपये। धीरे-धीरे और भी महिलाएं जुड़ती गईं। 1959 में पापड़ की बिक्री से 6 हजार रुपये आए, जो तब बड़ी रकम हुआ करती थी।

Work on the quality of papad instead of publicity

पापड़ का काम शुरू करनेवालीं सातों महिलाओं को समाजसेवी छगन बप्पा का साथ मिला। उन्होंने पैसों से थोड़ी मदद की तो महिलाओं ने मार्केटिंग या प्रचार की बजाय पापड़ की गुणवत्ता सुधारने में उनका इस्तेमाल किया।
Profits were good, so more women expressed their willingness to join. In such a situation, the seven founding members got a cooperative society registered. Shri Mahila Home Industries.

Business credit card scheme: किसानों की तरह कारोबारियों को भी कम ब्‍याज पर मिलेगा लोन

3-4 महीने में ही 200 से ज्यादा महिलाएं इससे जुड़ गईं और फिर वडाला में एक ब्रांच खोल डाला। को-ऑपरेटिव सोसाइटी की शुरुआत से ही इसका कोई एक मालिक नहीं बनाया गया। मालिकाना हक महिलाओं के समूह के पास रहा। आज इससे 45 हजार महिलाएं जुड़ चुकी हैं।

Secret of the strong taste of Lijjat Papad

देश भर में Lijjat Papad के करीब 60 सेंटर हैं, लेकिन हर जगह तैयार होने वाले पापड़ का स्वाद एक जैसा रहता है। आखिर कैसे? इसके पीछे का राज है, इसका इंग्रीडेंट्स।
इस पापड़ के लिए उड़द की दाल म्यांमार से, हींग अफगानिस्तान से मंगाई जाती है। वहीं काली मिर्च केरल से, जबकि अन्य मसाले भारत से ही। दाल, मसाले और नमक मिलाकर आटा तैयार कर लिया जाता है।
Women pick up the same flour from different centers and then prepare papad and deposit it at the centre. The company officials also keep visiting the centers to ensure that the quality remains the same everywhere.
There is also a system of taste testing in a laboratory in Mumbai.

कार्य प्रणाली और अनुशासन(Work Procedure and Discipline)

संस्था में काम करनेवाली महिलाओं को बहन कह के संबोधित किया जाता है। काम सुबह 4.30 बजे से शुरू हो जाता है। महिलाओं का एक समूह आटा गूंथता है। दूसरा समूह इसे एकत्र करता है।

Primary Teacher को 10 लाख का Loan दिला ब्लैंक चेक से निकाल लिए 7 लाख

फिर घरों में पापड़(Lijjat Papad) बेल कर तैयार किया जाता है और फिर ब्रांच में पहुंचा दिया जाता है। आवाजाही के लिए महिलाओं को मिनी-बस की सुविधा दी जाती है। पूरी कार्य प्रणाली की निगरानी, मुंबई की 21 सदस्यीय केंद्रीय प्रबंधन कमेटी करती है।

महिला सशक्तीकरण केंद्रित फिल्म(women empowerment film)

7 महिलाओं की एक मीटिंग से शुरू हुआ लिज्जत पापड़(Lijjat Papad) महिला सशक्तीकरण का नायाब उदाहरण है।
Filmmaker Ashutosh Gowariker, who specializes in period films, has also announced to make a film about it called Karram Kurram.
इसमें लीड रोल में कियारा आडवाणी लीड रोल निभाएंगी। फिल्म का डायरेक्शन ग्लेन बैरेटो और अंकुश मोहला कर सकते हैं।