logo

सरसों की MSP को लेकर सरकार ने जारी किया Big Update

Mustard MSP Rate 2024:सरकार ने सरसों को बड़ा बदलाव दिया है। केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार 2024 रवि सीजन में सिद्ध किसानों से एमएसपी दर पर सरसों खरीदेगी, जिससे बाजार में दृश्यता बढ़ेगी। सरकार ने भारी फसल की उम्मीदों के बीच एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है।
 
 
सरसों की MSP को लेकर सरकार ने जारी किया Big Update

Haryana Update: केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि 2024 में विपणन केंद्र किसानों से सीधे सरसों 5,650 रुपये की एमएसपी दर पर खरीदेंगे, जिससे बाजार मूल्य उसी रबी सीजन में स्थिर रहेगा। इस बार भी सरसों का बंपर उत्पादन होगा। सरकार ने यह निर्णय लिया है क्योंकि सरसों की कीमत बाजारों में एमएसपी रेट से नीचे बिक रही है।

सरसों का उत्पादन बढ़ने का अनुमान है
हाल की रिपोर्ट के अनुसार, घरेलू सरसों का उत्पादन इस बार 113 लाख टन से 130 लाख टन होने की संभावना है, चालू रबी सीजन 2024 में। मंदिरों में पैदावार की उम्मीद है, जबकि उत्पादन इस बार रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच जाएगा। इसलिए कीमतें 5000 से 5200 रुपये प्रति क्विंटल पर गिर गई हैं, जो समर्थन मूल्य से काफी कम है।
सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के आठवें पे कमीशन को किया क्लीयर
 हाल ही में सरसों की कीमत समर्थन मूल्य से नीचे होने से मंदी गहरी हुई है और 2022–2023 के रबी सीजन में सरकार ने 14 लाख टन से अधिक गेहूं खरीदा था। NAFED ने 12 लाख टन से अधिक को खरीद लिया, जबकि शेष 200,000 टन को NAFED ने खरीद लिया। नई सरसों की आवक उत्तर के दो बड़े उत्पादक राज्यों मध्य प्रदेश और राजस्थान में शुरू हो गई है। झारखंड, मध्य प्रदेश, हरियाणा, पश्चिम बंगाल और गुजरात इनमें शामिल हैं।


गौरतलब है कि लोकसभा के आम चुनाव अप्रैल 2024 में होंगे। सरकार अधिक उत्पादन दबाव के कारण किसानों को परेशान नहीं करना चाहती है। चालू सीजन में 100 लाख हेक्टेयर से अधिक सरसों की खेती हुई है, जो देश की आजादी के बाद राजस्थान और हरियाणा के कुछ इलाकों में सबसे अधिक है, क्योंकि सरसों रवि सीजन की सबसे महत्वपूर्ण तिलहन फसल है। अगले कुछ