logo

UP का पहला वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट सुविधाएं और शॉकिंग नाम का खुलासा

UP first World class Railway station : उत्तर प्रदेश के पहले विश्व-स्तरीय रेलवे स्टेशन का इंतजार अब समाप्त होने वाला है। छह साल के बाद, गोमती नगर रेलवे स्टेशन एयरपोर्ट के स्तर पर बनकर तैयार हो गया है, और इसे अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से जाना जाएगा। स्टेशन पूरी तरह से वातानुकूलित रहेगा, और इसमें स्वचालित सीढ़ियों के साथ-साथ लिफ्टें भी हैं। रेल भूमि विकास प्राधिकरण 15 फरवरी को इसे पूर्वोत्तर रेलवे को सौंपेगा। आइए, इसे विस्तार से जानते हैं।
 
 
Haryana Update

Haryana Update, UP first World class Railway station : गोमतीनगर वर्ल्ड क्लास स्टेशन का इंतजार छह साल बाद खत्म होने वाला है। गोमतीनगर वर्ल्ड क्लास स्टेशन बन गया है, जो दो पैसेंजर ट्रेनों के ठहराव वाले हाल्ट से पांच प्लेटफॉर्म वाले स्टेशन में बदल गया है। यह उत्तर प्रदेश का पहला अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्टेशन होगा। अगले हफ्ते, विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने वाले रेल भूमि विकास प्राधिकरण (आरएलडीए) इसे रेलवे को देगा। गोमतीनगर स्टेशन को इस महीने के अंत तक उद्घाटन करने की योजना बनाई जा रही है। तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने गोमतीनगर हाल्ट को स्टेशन बनाने का प्रस्ताव बनाया था। इससे चार नए प्लेटफॉर्म पैदा हुए। बाद में विभूतिखंड की ओर छह नंबर प्लेटफॉर्म भी बनाए गए। 21 मई 2018 को गोमतीनगर को विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने का प्रस्ताव स्वीकृत किया गया।

इस परियोजना पर लगभग 385 करोड़ रुपये खर्च हुए। विभूतिखंड को आरएलडीए ने कॉमर्शियल ब्लॉक बनाकर उसे लीज पर बेचा है। इससे प्राप्त धन से गोमतीनगर स्टेशन भी बनाया गया है। 10 एकड़ में स्टेशन बनाया गया है। स्टेशन में दो टर्मिनल बिल्डिंग तल हैं, एक दक्षिण में और दूसरा उत्तर में।

Haryana Update

28 X 85 मीटर का एक हवाई कानकोर्स बनाया गया है। नए टर्मिनल पर चौबीस लिफ्ट और तेरह एक्सेलेटर यात्रियों को स्थान मिलेगा। यात्रा करते हुए खरीदारी का आनंद लेने के लिए दो व्यापारिक ब्लॉक बनाए गए हैं। हर ब्लॉक में भूतल और चार मंजिला इमारतें डबल बेसमेंट के साथ बनाई गई हैं। Commercial Block में बारह लिफ्ट और आठ एक्सेलेटर हैं। डबल बेसमेंट में पार्किंग की सुविधा है।

पूरे छह साल बाद बनकर हुआ तैयार
तैयार होकर छह साल बाद गोमती नगर रेलवे स्टेशन अटल बिहारी वाजपेयी रेलवे स्टेशन बन जाएगा। पूरा स्टेशन हवादार होगा। स्टेशन में स्वचालित सीढ़ियां और लिफ्ट हैं। रेल भूमि विकास प्राधिकरण इसे पूर्वोत्तर रेलवे को 15 फरवरी को देगा, सूत्रों ने बताया।