logo

Farmers Protest : शंभू बॉर्डर पर टेंशन, पुलिस और किसानों के बीच हंगामा, ड्रोन से आंसू गैस के गोले छोड़े गए

Delhi Chalo Protest Update : हरियाणा-पंजाब के किसानों ने दिल्ली की ओर मार्च की शुरुआत की है, और इस प्रक्रिया के दौरान हरियाणा-पंजाब के शंभू बॉर्डर पर भारी उत्तेजना देखा जा रहा है। पुलिस ने किसानों के जथे को बाधित करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े हैं।
 
 
Haryana Update

Haryana Update, Farmers Protest : पुलिस ने ड्रोन से आंसू गैस छोड़े। साथ ही कई किसानों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं हरियाणा और दिल्ली के छोटे बॉर्डर को बंद कर दिया गया है। किसान मंगलवार सुबह 10 बजे पंजाब के फतेहगढ़ साहिब से चले गए। किसानों ने फिर शंभू बॉर्डर पर पहुंच गया है।

सोमवार शाम को चंडीगढ़ में किसानों के साथ केंद्रीय मंत्रियों की एक बैठक हुई, लेकिन इसके बाद भी कोई समाधान नहीं निकल पाया। किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचिव सरवन सिंह पंढेर ने कहा कि सरकार आंदोलन को रोकना चाहती है। बातचीत करने के लिए तो वे आगे भी खुले रहेंगे। सरकार एमएसपी कानून और अन्य मांगों को कभी भी लागू कर सकती है।

इंटेलिजेंस की रिपोर्ट से चौंकाने वाला खुलासा
इंटेलिजेंस रिपोर्ट ने हरियाणा-पंजाब बॉर्डर के अलावा दिल्ली की सीमाओं पर भी चौंकाने वाला खुलासा किया है। हालाँकि, इंटेलिजेंस रिपोर्ट ने दिलचस्प जानकारी दी है। किसान दिल्ली में पैदल जाने का प्रयास करेंगे, खासकर बोर्डर के आसपास के रिमोट क्षेत्रों में, जहां वाहन नहीं जा सकते हैं। किसानों ने पंजाब से 1500 ट्रैक्टरों और 500 से अधिक वाहनों को छोड़ दिया है।

किसान भी शंभू बॉर्डर (अंबाला), खनोरी (जींद) और डबवाली (सिरसा) से दिल्ली तक पहुंचने का प्रयास करेंगे। किसानों के ट्रैक्टरों में छह महीने तक का खाना है। हाल ही में, केएमएससी की कोर कमेटी और बड़े किसान नेताओं ने केरला, यूपी, बिहार, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, उत्तराखंड और तमिलनाडु का दौरा किया, जो मार्च के कार्यक्रम में शामिल होने से पहले हुआ था।

Kisan Andolan Reason : जाने किसान आंदोलन के कारण और उनकी मांगें