logo

Kal Sarp Dosh Mahapuja: सफीदों मे होगा काल सर्प दोष महापूजा का आयोजन, ऐसे करवाएँ रजिस्ट्रेशन

Kal Sarp Dosh Mahapuja:जो लोग काल सर्प दोष से पीड़ित हैं जिनके बनते कार्य बिगड़ जाते हैं। जिनहे किसी कार्य मे सफलता नहीं मिलती। उन लोगों के लिए खुशखबरी है। बता दें, सफीदों मे कालसर्प दोष महापूजा का आयोजन किया जा रहा है। जी हाँ, पंडित प्रदीप शास्त्री द्वारा 22 जुलाई से इस कालसर्प दोष महापूजा का आयोजन किया जा रहा है। आइए जानते हैं पूरी जानकारी...
 
safidon kal sarp dosh mahapuja

Kal Sarp dosh Mahapuja: सफीदों मे कालसर्प दोष निवारण महापूजा का आयोजन किया जा रहा है। सफीदों के जाने माने पंडित प्रदीप शास्त्री द्वारा इस Kal Sarp Dosh महापूजा का आयोजन किया जा रहा है।

कालसर्प दोष निवारण महापूजा का स्थान- 
अग्रवाल धर्मशाला, मेन बाजार, सफीदों (हरियाणा)-126112

कालसर्प दोष निवारण महापूजा आयोजन की तिथि-
22 जुलाई 2024 से 19 अगस्त 2024

कालसर्प दोष निवारण महापूजा का समय-
सुबह 8:00 से लेकर शाम 7:00 बजे तक

संस्था- PKS सेवा संस्था

कालसर्प दोष निवारण महापूजा के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें-

kal sarpa dosh mahapuja safidon
कालसर्प दोष निवारण महापूजा के लिए विशेष संपर्क नंबर 94670-62928 पर संपर्क कर सकते हैं।

इस कालसर्प दोष निवारण महापूजा मे रुद्राक्ष से निर्मित शिवलिंग द्वारा पूजा की जा रही है। PKS सेवा संस्था द्वारा कहा गया है कि काल सर्प दोष निवारण महापूजा मे रुद्राक्ष के शिवलिंग का विशेष महत्व है। इससे शीघ्र ही कालसर्प दोष दूर होता है। इस महापूजा के लिए हर शिवभक्त 1 रुपये से लेकर 5 रुपये या रुद्राक्ष भेजकर अपना योगदान दे सकता है। एक विशेष विनती ये भी की गई है कि जो कोई भी शिवभक्त इस महापूजा के लिए आवेदन करे वो अपना मोबाइल नंबर जरूर भेजे। ताकि महापूजा का महाप्रसाद आप तक जरूर पहुंचे।

Official Website: Click Here

कालसर्प दोष के संकेत (Signs of Kal Sarp Dosh)
अगर किसी व्यक्ति के ऊपर कालसर्प दोष है तो उसको लगभग 42 वर्ष के बाद ही सफलता प्राप्ति होती है। कालसर्प दोष होने शत्रुओं की संख्या बढ़ जाती है। सेहत में गिरावट आने लगती है। कालसर्प दोष होने व्यक्ति को बुरे सपने आने लगते हैं जिसमें बार-बार मृत्यु के सपने, सपनों में सांपों का दिखाई देना शुरू हो जाता है। व्यापार में लगातार हानि होने लगती है। विवाह में देर होती है। मानसिक एवं शारीरिक कष्ट बढ़ने लगते हैं। पैतृक संपत्तियां धीरे-धीरे नष्ट होने लगती है। धोखा मिलने की संभावना बढ़ जाती है।  बुरे स्वप्न एवं अनिद्रा रोग की समस्या का सामना करना पड़ता है और कोर्ट कचहरी का सामना करना पड़ता है।

यहाँ दी गयी जानकारी सामान्य मान्यताओं/ ज्योतिषियों/ पर आधारित है, Newzindiahub.in ऐसे किसी भी दावे की ज़िम्मेदारी नहीं लेता है।

click here to join our whatsapp group