logo

20 साल बाद हर घर मे एक व्यक्ति होगा पागल: सवजी धोलकिया

Savji Dholakiya: उन्होने कहा कि बच्चे बाप से आलसी और माँ से गालियां सीख रहे हैं। इसमे किसी कि गलती निकालने की जरूरत नहीं है। आपके घर के माहौल पर सारा दारोमदार टिका हुआ है।

 
savji dholakiya

New Delhi. देश मे परिवर्तन लान जरूरी है। बच्चे मोबाइल फोन से न जानने वाली बातें सीख रहे हैं। इससे जुड़े अनेक मामले रोजाना अखबारों मे छपते हैं। इसके पीछे माँ बाप की कमी भी है। समर्पण ठेकों स्कूल की और से आयोजित नाटक कार्यक्रम मे सवजी धोलकिया ने कहा की यदि आप चाहते हैं कि 20 साल बाद आपके घर मे पागल न पैदा हो तो अभी से मोबाइल के इस्तेमाल पर नियंत्रण करना जरूरी है।

उन्होने कहा कि बच्चे बाप से आलसी और माँ से गालियां सीख रहे हैं। इसमे किसी कि गलती निकालने की जरूरत नहीं है। आपके घर के माहौल पर सारा दारोमदार टिका हुआ है।

धोलकिया ने कहा है कि मैं आप सबको सबसे गंभीर बातें बता रहा हूँ। इसे बहुत सोच समझकर कह रहा हूँ। लोग हमारी बात मानें ये जरूरी नहीं है। इसके बावजूद मैं कहना चाहता हूँ कि हम सभी परिवार के साथ रहते हैं। बच्चों के साथ खेलते हैं। मेरी बातें याद रखना, 20 साल बाद हर घर मे एक व्यक्ति पागल पैदा होगा। मोबाइल आज हर आदमी को पागल बना रहा है। 

हर आदमी डिप्रेशन मे जी रहा है

धोलकिया ने कहा कि हमारी कंपनी मे हर जाती और हर कैटेगरी के आदमी काम करते हैं। उनके साथ रहते हुए मुझे यह अनुभव हुआ है। आज बच्चों कि नहीं बल्कि अभिभावकों को बहुत कुछ सीखने सीखाने की जरूरत है। दुनिया बदल रही है, लोगों कि आदत और विचार बदल रहे हैं। समय के साथ हमें भी बदलने की जरूरत है। जो नहीं बदलेंगे, वे बहुत पीछे रह जाएंगे। टेक्नालजी का इस्तेमाल करें पर एक सीमा मे।

click here to join our whatsapp group