logo

chandigarh: हरियाणा पुलिस भर्ती पहले फिजिकल, फिर होगी लिखित परीक्षा

Haryana Update: नहीं होगा अब पहले की तरह पुलिस सिपाही भर्ती में सिलेक्शन, भर्ती प्रक्रिया में पूरी तरह किया गया बदलाव
 
pic

Haryana Update: आपको बता दें कि  हरियाणा में अब पुलिस सिपाही भर्ती के लिए नियमों में किया गया बहुत बड़ा बदलाव। नहीं होगा अब पहले की तरह पुलिस सिपाही भर्ती में सिलेक्शन। भर्ती की पूरी प्रक्रिया में ही बदलाव किया गया है। पहली बार सिपाही भर्ती संयुक्त पात्रता परीक्षा के अंतर्गत ही की जाएगी। दूसरा,अब पहले अभ्यर्थियों का शारीरिक परीक्षण होगा और बाद में उनकी लिखित परीक्षा ली जाएगी।

इससे पहले अभ्यर्थियों को पहले लिखित परीक्षा देनी होती थी। बाद मे उनको शारीरिक परीक्षण देना होता था। किंतु अब पुलिस सिपाही भर्ती प्रक्रिया में पूरी तरह से बदलाव किया जा चुका है। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) ने जो प्रस्ताव तैयार किया है उस  पर हरियाणा सरकार ने भी हामी भर दी है। HSSC के इस प्रस्ताव को  हरियाणा सरकार मे भई मंजूरी दे दी है।अब आगे भविष्य में इसी प्रक्रिया के तहत भर्ती होगी। 

अगले महीने होगी भर्ती प्रक्रिया
हरियाणा में इस साल 6 हजार सिपाहियों की भर्ती की जाएगी। जिनमें 5 हजार पुरुष और 1 हजार महिला सिपाही होंगे। अब अगले महीने में आयोग इन पदों को विज्ञापित करने जा रहा है। इनके लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को पहले शारीरिक परीक्षण (मापतोल और दौड़) से गुजरना होगा। बाद में ही उनको लिखित परीक्षा देनी होगी।  जो शारीरिक परीक्षा पास करेगा वही सीईटी दे पाएगा। 

इसलिए लिया गया भर्ती प्रक्रिया में  बदलाव का निर्णय

आपको बता दें कि अभ्यर्थियों का चयन मैरिट के आधार पर होगा। आयोग का दावा है कि इससे भर्ती प्रक्रिया तेज होगी और अभ्यर्थियों की परेशानी भी कम होगी। इससे पहले हरियाणा में पुलिस भर्ती के लिए पहले लिखित परीक्षा ली जाती थी और बाद में शारीरिक परीक्षण के लिए परीक्षा होती थी। आयोग और अभ्यर्थियों के सामने परेशानी होती थी।

कई ऐसे अभ्यर्थी भी लिखित परीक्षा पास करके आ जाते थे।  जिनकी लंबाई समेत अन्य कमियां होती थी। भर्ती प्रक्रिया में बदलाव होने के बाद अब उनको भर्ती प्रक्रिया में कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

ऐसे में बिना शारीरिक शर्तों को पूरा किए भी काफी संख्या में अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया में शामिल हो जाते थे। इससे भर्ती लंबी हो जाती थी और आयोग का समय भी ज्यादा व्यर्थ होता था। साथ ही, अभ्यर्थियों को भी परेशानी झेलनी पड़ती थी और आयोग को भी काफी समस्याएँ आती थी।  परंतु अब उन्हें ऐसी किसी कठिनाइयों का सामना नहीं करना पडे़गा। 

भोपाल सिंह खदरी का बयान

एचएसएससी के अध्यक्ष भोपाल सिंह खदरी का कहना है कि सिपाही भर्ती संयुक्त पात्रता परीक्षा के माध्यम होगी। पहली बार पुलिस भर्ती प्रणाली में बदलाव किया गया है। अब पहले फिजिकल लिया जाएगा और बाद में लिखित परीक्षा होगी। पहले इससे उल्टा होता था जिसमें पहले लिखित परीक्षा होती थी और बाद में लिखित परीक्षा होती थी। जिससे  प्रक्रिया काफी लंबे समय तक चलती थी।